शिक्षक साथी यहाँ से डाउणलॉड करें ।
STD X ‍। STD IX

HINDI TEACHER TEXT UPDATED VERSION (STD-8)

Powered by Blogger.

Saturday, 30 November 2013

एकल अभिनय अथवा एक-पात्रीय नाटक (Mono Drama)


श्री.परवेज़ अख्तर से लिखित यह टिप्पणी  केरल के हिंदी अध्यापक मित्रों से साझा (share) करना चाहता हूँ । यह टिप्पणी ' रंगायन ' से केवल शैक्षिक आवश्यकताओं के लिए ली है। कॉपीराइट की कोई मामला है तो इसे जलदी ही हटा देंगे।
-----------  हिंदी ब्लोग
 श्री. परवेज़ अख्तर
रंगमंच अभिनेता का माध्यम है, किन्तु दुर्भाग्यवश रंगमंच में अभिनेता की अलग पहचान नहीं बन पायी | इस पहचान के बिना रंगमंचकी पहचान भी संभव नहीं है | ‘एकल अभिनय’ पूरी तरह अभिनेता का रंगमंच है | यह एक अभिनेता को उसके द्वारा अर्जित अनुभव, कार्यदक्षता और कल्पनाशीलता के प्रदर्शन का स्वतंत्र अवसर उपलब्ध करता है और उसे उसकी जादुई शक्ति के साथ रंगमंच पर प्रतिष्ठापित भी करता है | एकल नाट्य (या एकल अभिनय) किसी भी स्तर पर सामूहिकता का निषेध नहीं करता, बल्कि यह सामुदायिक जीवन का अंग है, क्योंकि यह व्यापक दर्शक समुदाय को सम्बोधित होता है |
ऊपरी तौर पर ‘एकल अभिनय’ भले ही सरल लगता हो; किन्तु वास्तव में, यह ‘समूह-अभिनय’ से ज्यादा जटिल है और कल्पनाशीलता तथा नाट्य-कौशल में सिद्धहस्त अभिनेता की माँग करता है | समूह अभिनय में, जहाँ अनेक अभिनेताओं की क्रिया-प्रतिक्रिया के संघर्ष से नाट्य प्रभाव की सृष्टि होती है; वहीं एकल अभिनय में, अभिनेता के भीतर यह नाट्य-व्यापार घटित होता है, जो उसकी शारीरिक क्रिया द्वारा मंच पर साकार होता है | एकल अभिनय,
मूल-धारा के समूह अभिनय के विरुद्ध नहीं है; बल्कि यह उसे सम्पुष्ट करता है, बल प्रदान करता है; सबसे अधिक यह रंगमंच की अनिवार्य इकाई अभिनेता को विशेष पहचान देता है, उसके प्रति दर्शकों की आस्था को शक्ति प्रदान करता है | इसप्रकार यह रंगमंच के नायक ‘अभिनेता’ को पुनर्स्थापित करने का महत्वपूर्ण कार्य करता है | बांग्ला रंगमंच में, एकल अभिनय की परम्परा काफी वर्षों से है और तृप्ति मित्र-साँवली मित्र के प्रयोग का भारतीय रंगमंच में उच्च-मूल्यांकन किया जाता है | बाऊल एक तरह का एकल नाट्य ही है | महान बांग्ला अभिनेता शांति गोपाल द्वारा अंतर्राष्ट्रीय-स्तर पर चर्चित ‘लेनिन’, ‘कार्लमार्क्स’, ‘सुभाषचंद्र’, ‘राममोहन रॉय’ आदि पर मंचित जात्रा; एक हद तक, उनका एकल अभिनय ही था | इधर कुछ वर्षों से; हिन्दी, कन्नड़, मराठी और अन्य भारतीय भाषाओं में एकल अभिनय के अनेक अभिनव प्रयोग किये गए हैं | पटना में ‘नटमंडप’ द्वारा इस सिलसिले को पिछले कुछ वर्षों से गंभीरता से आगे बढाया गया है | बिहार के अन्य कतिपय रंगकर्मियों द्वारा भी एकल अभिनय के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किये गए हैं | रंगमंच के लिए किसी नाट्य प्रयोग की प्रासंगिकता, उसके द्वारा संपूर्ण नाट्य प्रभाव की सृष्टि और नाट्यकला का आस्वाद करा पाने की उसकी क्षमता में अन्तर्निहित है | इसलिए, एकल अभिनय एक सामान्य नाट्य मंचन जैसा ही है, जिसमें एक-अकेले अभिनेता के अतिरिक्त, किसी दूसरे अभिनेता की उपस्थिति की आवश्यकता नहीं होती और इसकी सफलता भी इसी में है कि दर्शक को किसी भी क्षण किसी अन्य अभिनेता के न होने का अहसास न हो | एकल अभिनय को, रंगमंच के एक ‘फॉर्म’ अथवा शैली के रूप में दर्शकों की स्वीकृति भी मिल रही है और यह रंगमंच के हित में है|

Friday, 29 November 2013

आदमी का बच्चा कार्य पत्रिका


आदमी का बच्चा
कार्य पत्रिका

sविश्लेषणात्मक प्रश्न
01.धोबी और माली के बच्चे बेहुदे कहे गए हैं। इस पर आप अपना विचार व्यक्त करें?
..............................................................................................................................................................................................…..................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................
02.धोबी और माली के बच्चें के साथ खेलने से डौली को मना कर दिया जाता है। एसे सामाजिक अंतरविरोधों के क्या-क्या कारण हो सकते हैं ?
..............................................................................................................................................................................................…..................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................
03.एक तरफ पालतू पशुओं पर अपव्यय और दूसरी तरफ भूखे बच्चों की मौत।-एक सभ्य समाज के निर्णाण केलिए यह कहाँ तक स्वीकार्य है?…..............................................................................................................................................................................................…..................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................
04.आया की सहानुभूति किसके साथ है और क्यों?
..............................................................................................................................................................................................…..................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................

05.‘यदी इस नस्ल को यों बाँटने लगें तो उसकी कद्र ही क्या रह जाए?’ यहाँ उच्च वर्ग के लोगों के मनोभाव की कौन-सी विशेषता प्रकट है?
..............................................................................................................................................................................................…..................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................
sप्रोक्तियाँ
1.डौली की डायरी।(माली के घर जाने की घटना पर)
तारीख.............
स्थान...............
…..............................................................................................................................................................................................…..................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................
2.डौली की माँ की डायरी - माली के बच्चे की रुलाई पर
तारीख.............
स्थान...............
..............................................................................................................................................................................................…..................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................
3.डौली की आया बिंदी की डायरी।(अपनी हालत पर विवशता प्रकट करते हुए)
तारीख.............
स्थान...............
..............................................................................................................................................................................................…..................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................
4.कुत्ते के पिल्लों को मरवा देने की बात पर रमन,ज्योति और डौली के बीच का वार्तालाप।
रमन : …..............................................
डौली : …..............................................
रमन : …..............................................
ज्योति : …..............................................
डौली : …..............................................
रमन : …..............................................
डौली : ……............................................
ज्योति : …..............................................
डौली : …..............................................
रमन :…..............................................
डौली : …..............................................
रमन : …..............................................
डौली : …..............................................
5.माली के बच्चे की मृत्यु के प्रसंग पर डौली और आया के बीच का वार्तालाप।
डौली : …..............................................
आया : …..............................................
डौली : …..............................................
आया : …..............................................
डौली : …..............................................
आया : …..............................................
डौली : …..............................................
आया : …..............................................
डौली : …..............................................
आया : …..............................................
4.कुत्ते के पिल्लों को मार डालने के प्रसंग पर मेहत्तर और डौली के बीच का वार्तालाप।
मेहत्तर : …..............................................
डौली : …..............................................
मेहत्तर : …..............................................
डौली : …..............................................
मेहत्तर : …..............................................
डौली : …..............................................
मेहत्तर : …..............................................
डौली : …..............................................
मेहत्तर : …..............................................

4.कुत्ते के पिल्लों को मार डालने के प्रसंग पर आया बिंदी और डौली के बीच का वार्तालाप।
डौली : …..............................................
आया : …..............................................
डौली : …..............................................
आया : …..............................................
डौली : …..............................................
आया : …..............................................
डौली : …..............................................
आया : …..............................................
डौली : …..............................................
आया : …..............................................
डौली : …..............................................
5.उच्च परिवारों की व्यस्तता में माता पिता के प्यार से वंचित वच्चों का प्रतिनिधि है डौली -डौली के चरित्र के आधार पर एक निबन्ध तैयार करें।
..............................................................................................................................................................................................…..................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................…..............................................................................................................................................................................................…..................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................................
sविशेषताएँ चुनें
6.निम्नलिखित विशेषताओं में से डौली की विशेषताएँ चुनें।
  • नादान और जिज्ञासू
  • क्रूर।
  • जीव-जंतुओं से प्यार रखनेवाली।
7.निम्नलिखित विशेषताओं में से आया बिंदी की विशेषताएँ चुनें।
  • अपनी हालत पर दुखी
  • उच्चवर्ग के परिवार के साथ रहने में संतुष्ट।
  • असहाय
8.निम्नलिखित विशेषताओं में से डौली की माँ की विशेषताएँ चुनें।
  • निम्न वर्ग के लोगों के साथ घृणा का भाव रखनेवाली।
  • पशु पक्षियों को प्यार करनेवाली।
  • नौकरों के बच्चों के साथ खेलला पसंद न करनेवाली
sक्रमबद्ध करके लिखें
1. कुतिया ने पिल्लै दिए।
बग्गा साहब के घर में विचित्र नस्ल की कुतिया थी।
नए आनेवालों की दृष्टि उसकी ओर आकर्षित होती थी।
साहब ने मेहत्तर से पिल्लों के मरवा दिया।
..................................................
.......................................................
..........................................…............
.........................................................
2. माली के बच्चे की मृत्यु से डौली दुखी होती है।
डौली को माली के बच्चों के साथ खेलने से मना करती है।
मैनेजर साहब के बच्चों के साथ डौली को खेलने भेजतीहै।
डौली को घर में अकेलापन महसूस होत है। …..................................................
.......................................................
..........................................…............
.........................................................


Tuesday, 26 November 2013

आदमी का बच्चा


आदमी का बच्चा
(यशपाल)
समस्या : शहरीकरण मानवों में स्वार्थता एवं असमत्व पैदा करता है।
आशय : जीवन को संघर्षमुक्त बनाने के लिए औरों से दिली संबंध रखना है।
डायरी प्रस्तुत करें।
रम्या की डायरी
वटकरा 
१६ जुलै २०१३ 
पिताजी के साथ शहर गई थी। फुटपाथ पर एक करुणामय दृश्य देखा। एक आदमी वहाँ पड़कर मदद के लिए रो रहा था। सभी लोग नज़रें बचाकर जा रहे थे। किसी ने भी उसकी मदद नहीं की। कुछ करने केलिए मेरा मन करता था। पिताजी साथ थे, डर से चुप रही। वे मना करेंगे। लेकिन क्यों?मुझे मालूम नहीं। वह दृश्य अब भी मन में है
? रम्या पिताजी के साथ कहाँ गई थी?
? उसने फुटपाथ पर कैसा दृश्य देखा?
? लोग नज़रें बचाकर क्यों जा रहे थे?
छात्रों को उत्तर देने का अवसर दें।
  • शहरीकरण के बोलबाले में लोग अपने में सीमित रहते हैं। मानव में वाँछनीय गुणों का अभाव पाया जाता है। जीवन की रफ़्तार में वह दूसरों को नज़रंदाज़ करता है।
छात्रो, स्वार्थभरे शहरी जीवन की चर्चा यशपाल की कहानी "आदमी का बच्चा" करती है।
कहानी पढ़ें।
पहला अंतर :
(डौली अपने मामा-पापा.......घर की ओर लाया जाता है)
वाचन प्रक्रिया:
? डौली कहाँ पढ़ती थी?
? डौली को स्कूल ले जाने-आने का काम कौन करती थी?
? डौली के पापा कौन थे? वे क्या करते थे?
? माँ-बाप डौली को कैसी शिक्षा देना चाहती थी?
? डौली के बंगले के पीछे किनके क्वार्टर थे?
छात्रों को उत्तर देने का अवसर दें.

  • माँ-बाप को मालूम है कि डौली पिछवाड़े के घर में गई है। वह ऐसे लोगों के बच्चों के साथ खेलना चाहती थी। डोली के बारे में माँ-बाप के बीच का वार्तालाप तैयार करें।
लेखन प्रक्रिया और प्रस्तुति
गृहकार्य - वाक्यों में प्रयोग:
धक्क से रह जाना, ज़िद्द करना
अगला अंतर:
गृहकार्य की प्रस्तुतीकरण
धक्क से रह जाना: സ്തംഭിച്ചു നിന്നു പോവുക
दुर्घटना का दृश्य देककर मैं धक्क से रह गया।
ज़िद्द करना: ശാഠ്യം പിടിക്കുക
बच्चे खिलौने के लिए ज़िद्द करते हैं।

देखें, पड़ोस के गरीब लोगों के घर में डौली के खेलने के संबंध में माँ-बाप की प्रतिक्रिया क्या थी?
वाचन प्रक्रिया: (मामा के कुछ कह........शाम को आ जाएँगे।)
? मामा ने डौली के गर्दन पर क्या देखा?
? आया को क्या नोटीस दी गई?
? डौली किसके साथ स्कूल जाती थी?
? डौली को किसके साथ खेलने को भेजा गया था?
? कुतिया के पिल्ले के बारे में साहब का कायदा क्या था?
? पिल्ले के बारे में आया ने क्या कहा?
छात्रों को प्रतिक्रिया का अवसर दें।
लेखन प्रक्रिया:(गृहकार्य के रूप में दें )
धोबी और माली के बच्चों के साथ डौली को खेलने से मना कर दिया जाता है। ऐसे सामाजिक अंतर्विरोध के बारे में कहानी के आधार पर अपने मित्र के नाम एक पत्र लिखें।
अगला अंतर:
गृहकार्य की प्रस्तुति ।
वैयक्तिक रूप में प्रस्तुत करें ।
प्रस्तुति का आकलन ।
कहानी के अंतिम भाग का वाचन करें।
देखें कहानी में फिर क्या हुआ होगा?
वाचन प्रक्रिया: (माँ ने कहा.......नौकरी कर रही थी।)
? मेहत्तर ने पिल्ले को क्या किया?
? डौली ने मामा से क्या पूछा?
? बिंदी ने इसका क्या उत्तर दिया?
? संध्या समय मैनेजर के घर से लौटते समय डौली ने क्या देखा?
? आया के बच्चे की मृत्यु कैसे हुई होगी?
छात्रों को उत्तर देने का अवसर दें।
? बालमनोविज्ञान के संदंर्भ में डौली के चरित्र पर प्रकाश डालें।
    डौली
    आदमी का बच्चा - कहानी का मुख्य पात्र है-डौली । वह वग्गा साहब की इकलौती पुत्री है। घर मेंतो किसी का भी अभाव नहीं है। अकेली होने के कारण वह धोबी -माली के बच्चों के साथ खेलना चाहती है।लेकिन मामा उसे रोकती है।जब डौली के पिल्लै होते है,तब वह बहूत खुश होते है,तब वह बहूत खुस होती है।वह उसके साथ खेलना चाहती है। लेकिन बग्गा साहब उन पिल्ललों को भी मरवा डालते है । भूख के कारण ही पिल्लों को मरवा डाला है। यह जानकर डौली विस्मित होती है। धोबी के बच्चा जब मर जाता है तो डौली आया से पूछती है ,क्या माली के बच्चे को भी गरम पानी में डूबवाकर मार दिया गया है? इस प्रकार डौली में हम एक भोले-भाले बच्चे को देखते है।

    • कहानी से आपने क्या समझा?
  • समाज में अमीर-गरीब का भेद-भाव है।
  • हमारे बच्चे इस भेद-भाव के बीच जी रहे हैं।
  • "समभावना का एक समाज" हमारी इच्छा नहीं लक्ष्य है।
अपना विचार प्रकट करने का एक मौका अभी मिलेगा। निबंध लिखें:
विषय: गरीब बच्चे जीवन की बुनियादी सुविघाओं से वंचित हैं

दल की ओर से प्रस्तुत करें ।
प्रस्तुति का आकलन ।
अध्यापक की अपनी प्रस्तुति ।
 
गरीब बच्चे जीवन की बुनियादी सुविघाओं से वंचित हैं।
 समाज में उच्च वर्ग के तथा नि म्नवर्ग के लोग दिखाई देते हैं। यह विभाजन मुख्य रूप से धन संपत्ति के आधार पर होता है । धन के अभाव में गरीबों को आवश्यक भोजन व शिक्षा नहीं मिलते ।उन्हें समाज में एक तरह से उपेक्षित जीवन बिताना पड़ता है। आदमी का बच्चा कहानी में भी यही बात देखने को मिलते है । डौली के लिए जीवन कीसुख सुविधाएँ काफ़ी थी। उसकी देखभाल भी बड़ी सतर्कता से की जाती है।लेकिन धोबी-माली के बच्चे तो गरीब हैं। उसका पालन पोषण केलिए पर्याप्त धन उसके पास नहीं होते। सफ़ाई आदि में भी वे पीछे रह जाते हैं।धन और शिक्षा की कमी के कारण ही उच्च वर्ग के लोग उन्हें बेहूदे तक कहते है। समाज का यह कर्तव्य है -आधुनिक समाज के मनुष्यों में इस तरह की भिन्नता न रहने दे। सब को समान रूप से देखा जाए । सब को बराबरी का अवसर प्रदान किया जाए ।
लेखन प्रक्रिया -
कहानी का अंतिम भाग अपनी कल्पना के अनुसार लिखें।

" एक राजा था । वे बड़े संगीत प्रेमी थे । पक्षियों का संगीत उन्हें बहुत पसंद था । वे यह संगीत सुनने के लिए रोज़ जंगल जाया करते थे । एक दिन चीन के एक राजा ने उन्हें विशेष घंटी सौंप दी । उसमें एक पक्षी था। चाबी लगाने पर पक्षी मीठे स्वर में गाता था । राजा हमेशा चाबी लगाकर इसका मज़ा लूटता था। सालों बाद राजा बीमार पड़ गए। उन्होंने बार-बार चाबी लगाई। लेकिन संगीत नहीं आया। मशीन खराब हो गया था। निराश होकर राजा......... “

लेखन प्रक्रिया का आकलन:
  • कहानी का आशय समझा है।
  • घटनाओं को क्रमबद्ध किया है।
  • अंतिम भाग बदलकर लिखा है।
( कल्पना करें (टी.बी. पृ.72) कहानी की पूर्ति करें। )
अगला अंतर :
भाषा की बात:
अर्थभेद:
उदा:  
वह /गाय के बछड़े के पास से /नहीं जाना चाहती। (वह कर्ता है)
वह गाय /बछड़े के पास से /नहीं जाना चाहती। (गाय कर्ता है)
वह /जंगली हाथी के सामने /खड़ा रहा।
वह जंगली हाथी /सामने खड़ा रहा।
संशोधन:
निम्नलिखित अनुच्छेद का संशोधन करके लिखें:
केरल ईश्वर की अपना देश कहा जाता है। अपना राज्य नदियों में समृद्ध है। नदियों की किनारे में नारियल का बाग हैं।

संशोधन कार्य (टी.बी. पृ. 73 करवाएँ)

आशयग्रहण:
खंड छात्रों के सामने चार्ट पर या आई.सी.टी. के द्वारा प्रस्तुत करें।
छात्र खंड पढ़कर उसके नीचे दिए प्रश्न का उत्तर लिखें।

गणितज्ञ रामानुजम एक दफ़्तर में काम करते थे। वे खाली समय हिसाब का हल करते थे। उनके साथ काम करनेवाले समझते थे कि वह पागल है। अच्छे कागज़ को खराब कर रहा है। जब उनके अंग्रेज़ अफ़सर ने उन कागज़ों को देखा तो मालूम हुआ कि वह मामूली आदमी नहीं, मेधावी पुरुष है।
      1. रामानुजम कौन थे ?
      2. खाली समय वे क्या करते थे ?
( ऐसा प्रश्न बनाएँ और छात्रों से उत्तर लिखवाएँ। )
आशयग्रहण (टी.बी.पृ.73) छात्रों से करवाएँ।

हमने क्या किया?

  • डायरी पेश की
  • समस्या का अवबोध कराया
  • वाचन कराया
  • विश्लेषणात्मक प्रश्नों की चर्चा की
  • वार्तालाप तैयार कराया
  • चरित्र-चित्रण लिखवाया
  • निबंध लिखवाया
  • टीचर वर्शन प्रस्तुत किया
  • कहानी का अंतिम भाग बदलकर लिखवाया
  • वाक्य के शब्दों के प्रयोग से अर्थ-भिन्नता पर संकेत किया
  • आशयग्रहण करके प्रश्नोत्तर लिखने का अभ्यास कराया

Monday, 25 November 2013

बह तो अच्छा हुआ - कार्यपत्रिका



बहुविकल्प प्रश्न
1.गली कैसी थी ?
(विशाल , लंबा चौड़ा , संकरी और गंदी)
..............................................
2.गली में बच्चा कैसे गिरा ?
(दौड़कर , फिसलकर, खेलकर)
..............................................
3.बच्चे की माँ किसकेलिए बाहर आई?
(बच्चे का रुलाई सुनकर , कुछ लेने केलिए , बीड़ी का कचरा बाहर फेंकने केलिए)
..............................................

4,नगरपालिका में गली का नाम न होना - यहाँ गली की किस हालत पर संकेत है?
..............................................
5.गली और संकरी हो गई -कैसे ?
..............................................
विश्लेषणात्मक प्रश्न
1.संकरी - गंदी गली के बच्चे भी देश का भविष्य बन सकें। इसकेलिए आप के क्या सुझाव है ?
............................................................................................................... ….............................................................................................................. …........................................................................................... …............. …................................................................................................................................................................................................................................. ….............................................................................................................
2.आजकल खवरें बनाई जाती है,ताई नहीं -आप की राय क्या है ?
............................................................................................................... ….............................................................................................................. …........................................................................................... …............. …................................................................................................................................................................................................................................. …...............................................................................................................3.बच्चे के गिर पड़ने से गली और संकरी हो गई -यहाँ की सूचना क्या है ?
............................................................................................................... ….............................................................................................................. …........................................................................................... …............. …................................................................................................................................................................................................................................. ….............................................................................................................
4. सौभाग्य से उन दिनों नगर में चैनल नहीं था -वरना क्या होगा?
............................................................................................................... ….............................................................................................................. …........................................................................................... …............. …................................................................................................................................................................................................................................. ….............................................................................................................
5. ‘उस गली का नाम नगरपालिका में नहीं था- कवि इस पंक्ति द्वारा कौन-सी संवेदना समाज तक पहुँचाना चाहते हैं?
............................................................................................................... ….............................................................................................................. …........................................................................................... …............. ….................................................................................................................................................................................................................................
6. वह तो अच्छा हुआ है कि बीडी बनाते-बनाते बच्चे की माँ बाहर आयी - वरना क्या होगा?
............................................................................................................... ….............................................................................................................. …........................................................................................... …............. ….................................................................................................................................................................................................................................
प्रोक्तियाँ
1.गरीब बच्चे जीवन की बुनियादी सुविधाओं से वंचित है - इस विषय पर एक लेख तैयार करें।
............................................................................................................... ….............................................................................................................. …........................................................................................... …............. ….................................................................................................................................................................................................................................
2.किसी नेनगर के गंदी गली में बच्चे को छोड़ दिया है - शीर्षक पर अगले गिन के समाचार पत्र में एक समाचार आया। वह समाचार कल्पना करके लिखें।
............................................................................................................... ….............................................................................................................. …........................................................................................... …............. ….................................................................................................................................................................................................................................

© hindiblogg-a community for hindi teachers
  

TopBottom