शिक्षक साथी यहाँ से डाउणलॉड करें ।
STD X ‍। STD IX

HINDI TEACHER TEXT UPDATED VERSION (STD-8)

Powered by Blogger.

Saturday, 24 December 2016

वाच्य और वाच्य परिवर्तन


वाच्य (Voice) क्रिया का विधान
हिंदी में वाच्य तीन प्रकार के हैं –
कर्तृवाच्य(Active Voice)                                                                                                                                                              
कर्मवाच्य (Passive Voice) और                                                                         
भाव वाच्य (Impersonal Voice)
कर्तृवाच्यः  लड़का पानी पीता है।
लड़काः कर्ता,  पानीः कर्म और  पीता हैः क्रिया।
लड़का पानी पीता है।              लड़के से पानी पिया जाता है।
लड़के पानी पीते हैं।                 लड़कों से पानी पिया जाता है।
लड़की पानी पीती है।              लड़की से पानी पिया जाता है।
लड़कियाँ पानी पीती हैं।          लड़कियों से पानी पिया जाता है।

कर्तृवाच्य में कर्ता की प्रधानता है तो 
कर्मवाच्य में कर्म की प्रधानता है।
     कर्तृवाच्य से कर्मवाच्य                                                                                       करता + से - क्रिया कर्म के अनुसार
लड़का पत्ता लाता है।             लड़के से पत्ता लाया जाता है।                                                          लड़का पत्ते लाता है।                   लड़के से पत्ते लाए जाते हैं।                                                           लड़का पत्ती लाता है।        लड़के से पत्ती लाई जाती है।                                                            लड़का पत्तियाँ लाता है।            लड़के से पत्तियाँ लाई जाती हैं।  
    सकर्मक भूतकालिक वाक्यः ने प्रत्य
कमला ने कपड़ा खरीदा।     कमला से कपड़ा खरीदा गया।                                                        कमला ने कपड़े खरीदे।      कमला से कपड़े खरीदे गए।                                                           कमला ने साड़ी खरीदी।      कमला से साड़ी खरीदी गई।                                                            कमला ने साड़ियाँ खरीदीं।    कमला से साड़ियाँ खरीदी गईं।
कर्तृवाच्य से कर्मवाच्य                                                  
मैं आम खाता हूँ।   आमः पुलिंग एकवचन 
कर्ता + से मैं + से - मुझसे  
क्रिया - खाया जाता है।                            
आम कर्म पुल्लिंग एकवचन।     
मुझसे आम खाया जाता है।                                                       
अंजना दो पत्र लिखती है।  
पत्रः पुल्लिंग बहुवचन। करता + से - 
अंजना से। लिखे जाते हैं कर्म पुलिंग वहुवचन।  
अंजना से पत्र लिखे जाते हैं।                                                 
तुम क्या करते हो? कर्म में नहीं दिया गया है। 
करता + से - तुमसे किया जाता है। 
कर्म व्यक्त नहीं, अतः पुल्लिंग एकवचन।   
तुमसे क्या किया जाता है? 
     कर्मवाच्य से कर्तृवाच्य
गोपाल से कलम खरीदी जाती है। 
कलमः स्त्रीलिंग एकवचन, 
गोपालः पुल्लिंग एकवचन। 
गोपाल कलम खरीदता है।               
विनया से फूल तोड़ा जाता है।      
फूलः पुल्लिंग एकवचन,  
विनयाः स्त्रीलिंग एकवचन। 
विनया फूल तोड़ती है।                
किस से चाय बनाई जाती है?   
कौन + से - किस से। 
कौन (पु.) कौन चाय बनाता है? 
कौन (स्त्री) कौन चाय बनाती है?
     भाववाच्य (Impersonal Voice)
भाववाच्य में कर्ता या कर्म की प्रधानता नहीं रहती, 
भाव की प्रधानता रहती है। 
ये अधिकतर निधेषवाचक वाक्यों में प्रयोग किया जाता है।
मैं चल नहीं सकता। मुझसे चला नहीं जाता।                                                      
मछली उड़ नहीं सकती।  मछली से उड़ा नहीं जाता।                                                     
बुड्ढा दौड़ नहीं सकता।  बुड्ढे दौड़ा नहीं जाता। 
     वाच्य परिवर्तन दिन विभिन्न कालों में
सामान्य वर्तमान कालः      
     माता जी दोसा बनाती हैं। माता जी से दोसा बनाया जाता है।                     
तात्कालिक वर्तमानकालः      
    माताजी दोसा बना रही हैं। माता जी से दोसा बनाया जा रहा है।                   
संदिग्ध वर्तमान कालः       
    माताजी दोसा बनाती होंगी। माता जी से दोसा बनाया जाता होगा।                  
सामान्य भूतकालः           
    माताजी ने दोसा बनाया। माताजी से दोसा बनाया गया।                              
आसन्न भूतकालः         
   माताजी ने दोसा बनाया है। माता जी से दोसा बनाया गया है।                           
पूर्ण भूतकालः               
   माताजी ने दोसा बनाया था। माता जी से दोसा बनाया गया था।                         
अपूर्ण भूतकालः                 
   माताजी दोसा बना रही थी। माताजी से दोसा बनाया जा रहा था।                     
संदिग्ध भूतकालः               
   माताजी ने दोसा बनाया होगा। माता जी से दोसा बनाया गया होगा।                   
हेतु हेतु भूतकालः            
  यदि माताजी दोसा बनाती... यदि माता जी से दोसा बनाया जाता..
सामान्य भविष्यत कालः      
   माताजी दोसा बनाएँगी। माताजी से दोसा बनाया जाएगा।                     
संभाव्य भविष्यकालः         
  माताजी डोसा बनाएँ। माताजी से दोसा बनाया जाए।

No comments:

Post a Comment

© hindiblogg-a community for hindi teachers
  

TopBottom